Friday, April 27, 2012

हम अक्‍सर “यूज” होते हैं


हम अक्‍सर “यूज” होते हैं 
आलेख पढ़ने के लिए इस लिंक पर जाएं - www.sahityakar.com

4 comments:

Udan Tashtari said...

जाते हैं वहाँ

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

दोनों जगह के लिंक लगा दिये हैं!
आपकी इस उत्कृष्ट प्रविष्टी की चर्चा कल रविवार के चर्चा मंच पर भी होगी!
सूचनार्थ!

Badal Merthi said...

ji

मनोज कुमार said...

हो आए।